15 जुलाई 2012

बहुत दिनों बाद कुछ कहने का मन हुआ है देखते हैं कि आपके दिलों तक आवाज पहुँचती है कि नहीं-
















Bhawna

9 टिप्‍पणियां:

kshama ने कहा…

Aapka man sada khushbu bhara rahe!

Udan Tashtari ने कहा…

रचना बहुत अच्छी है...सेदोका के नियम आदि पर भी कभी लिखें ताकि हम भी जान सकें कि कैसे लिखा जाता है इन्हें.,..

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

मन का कोना यूं ही महकता रहे ...सुंदर प्रस्तुति

सहज साहित्य ने कहा…

बहुत खूबसुरत सेदोका । उपमान योजना बहुत सटीक और सधी हुई ंअनहीं कविता में भाव भरा दिल पाठकों को अभिभूत कर लेता है

Dr.Bhawna ने कहा…

Bahut-bahut aabhar aap sabka...sameer ji sedoka ka niyam hai: 5-7-7-5-7-7 bas..

sushma 'आहुति' ने कहा…

खुबसूरत अभिवयक्ति....

मेरा साहित्य ने कहा…

bahan dil se likhi baat sada dil tak pahunchti hai
bahut sunder sadoka
rachana

Narendra Purohit ने कहा…

bahut sunder, aur manmohak sabdo ka upyog kiya hai, bhawna ji. likhtey rahiya.

Dr. Hardeep Kaur Sandhu ने कहा…

Bhawna ji dil main utar gayee aap ki baten !

bahur badhayee !

Hardeep