31 दिसंबर 2006

दिल के दरमियाँ की ओर से आप सबको नव-वर्ष हार्दिक शुभकामनाएँ

ओढ़े हुए है
कोहरे की चादर
नूतन वर्ष।


सर्द हवाएँ
करती आलिंगन
नव-वर्ष का।



पछीं समूह
गाये मधुर गीत
नये साल के।




करें स्वागत
खुशियाँ ले के हम
नव-वर्ष का।




ये नव-वर्ष
प्रेम संदेश लिये
खड़ा द्वार पे।



डॉ० भावना कुँअर

2 टिप्‍पणियां:

Santosh Kumar Singh ने कहा…

Bhawana ji
ChitroN ke saath sabhee HAIKU achche hai. Aapko badhayee.
Santosh Kumar Singh

Dr.Bhawna ने कहा…

Santosh ji
Bahut Bahut Shukriya.