30 मार्च 2008

आइये बधाई देने का अवसर आया...


१४ फरवरी २००८ को उत्तर प्रदेश हिन्दी सस्थान द्वारा घोषित वर्ष २००६ के लिये साहित्यकार डॉ० कुँअर बेचैन को 'हिन्दी गौरव सम्मान' कल २८ मार्च २००८ को लखनऊ के 'यशपाल सभागार' में दिया गया। इसमें उनको प्रशस्ति पत्र के साथ-साथ २ लाख रुपये की राशि भी सम्मान रूप में दी गई उनके इस सम्मान के लिये 'दिल के दरमियाँ' एवं उसके पाठकगण की ओर से उनको हार्दिक बधाई ...
चित्र साभार दैनिक जागरण २९ मार्च २००८

4 टिप्‍पणियां:

उन्मुक्त ने कहा…

हमारी तरफ से बधाई

neeshoo ने कहा…

bhavna ji jankari k liye sukriya.badhai

प्रेमलता पांडे ने कहा…

बधाई!

Udan Tashtari ने कहा…

डॉ. साहब का हार्दिक अभिनन्दन एवं बधाईयाँ. आपका आभार इस समाचार को हम तक पहुँचाने के लिये.