23 अक्तूबर 2011

अविराम अक्तुबर

10 टिप्‍पणियां:

sushma 'आहुति' ने कहा…

बेहतरीन.....

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

बहुत सुन्दर ... सारी हाईकू रचनाएँ पसंद आयीं

वन्दना ने कहा…

बहुत सुन्दर हाइकू।

Udan Tashtari ने कहा…

बहुत सुन्दर ...

ASHOK BIRLA ने कहा…

मन के उन्मुक्त भाव प्रकृति का सोंदर्य चित्रण और अनुभव झलक रहा है ! बहत ही सुन्दर और अद्वितीय भाव ......

अनुपमा पाठक ने कहा…

सुन्दर!

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

सभी हाइकू बेहतरीन भावना जी बधाई और शुभकामनाएं |

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

सभी हाइकू बेहतरीन भावना जी बधाई और शुभकामनाएं |

Er. सत्यम शिवम ने कहा…

सारे हाईकु एक से बढ़कर एक है....बहुत ही सुंदर भावना जी...लाजवाब

Sarika Mukesh ने कहा…

बहुत सुंदर भावाव्यक्ति!
बहुत-बहुत शुभकामनाएं...अल्लाह करे और हो जोर-ए-कलम ज्यादा...
अब तो आपके ब्लॉग को बराबर देखना होगा!
कभी मेरे ब्लॉग पर पधारकर अपनी भी प्रतिक्रिया दें, अच्छा लगेगा!