25 जून 2013

सेदोका


6 टिप्‍पणियां:

shashi purwar ने कहा…

बेहद सुन्दर प्रस्तुति ....!
आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि की चर्चा कल बुधवार (26-06-2013) के धरा की तड़प ..... कितना सहूँ मै .....! खुदा जाने ....!१२८८ ....! चर्चा मंच अंक-1288 पर भी होगी!
सादर...!
शशि पुरवार

Kailash Sharma ने कहा…

दिल को छूती बहुत प्रभावी अभिव्यक्ति...

दिगम्बर नासवा ने कहा…

बधाई इन लाजवाब हाइकू के प्रकाशन पर ...

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

bhawpurn... behtareen..

बेनामी ने कहा…

Hello there! This post could not be written any better! Reading through
this post reminds me of my old room mate! He always kept talking about
this. I will forward this post to him. Fairly certain
he will have a good read. Many thanks for sharing!


Look into my web page :: buyherepayherecardealers.blogspot.com

vijay kumar sappatti ने कहा…

एक शानदार नज़्म ... प्रेम से भरा हुआ , दिल को छूता हुआ ...

दिल से बधाई स्वीकार करे.

विजय कुमार
मेरे कहानी का ब्लॉग है : storiesbyvijay.blogspot.com

मेरी कविताओ का ब्लॉग है : poemsofvijay.blogspot.com